परिंदों के झुंड ने आसमां में बनाई खूबसूरत आकृतियां, चिड़ियों की चहचहाहट के गूंज उठा आकाश


नेचुरल ब्यूटी को इंसान कभी मात नहीं दे सकता. एक से एक सुंदरता, कलरव, परिंदो का कोलाहल, नदी झरनों की आवाज़ कानों को सुकून देती है वो वहीं प्राकृतिक खूबसूरती मन मोह लेती है. भले ही पशु पक्षी हम इंसानों की तरह कोई पढ़ाई या कोई कोर्स नहीं करते लेकिन अपने नेचुरल टैलेंट से जो कुछ करते हैं वो हैरान कर देता है.

ट्विटर पर एक ऐसा ही वीडियो शेयर किया है IFS Samrat Gowda ने. जिसमें हज़ारों पक्षियों के झुंड ने आसमान में इस कदर कलरव और फॉरमेशन्स बनाए कि दिल खुश हो गया. बेहद बड़ी तादात में एक साथ उड़ रहे पक्षियों का झुंड मानों किसी कला के प्रदर्शन पर निकला था. साथ-साथ डांस और गाना दोनों हो रहा था. जी हैं जितनी तेज़ी से आकाश में उड़ रहे पक्षियों का झुंड अपना आकार बदल रहा था उतनी तेज़ी से उन चहचहाहट भी सुर में बंधकर कानों तक पहुंच रही थी.

परिदों के झुंड ने बनाई खुले आकाश में खूबसूरत फॉरमेशन
IFS Samrat Gowda ने इस चिड़ियो के फॉरमेशन करती वीडियो को शेयर करने के साथ कैप्शन में लिखा ‘क्या इसे बर्ड आर्ट कह सकते हैं?’ साथ ही पूछा कि क्या कोई और अच्छा कैप्शन हो सकता है? जिस पर कई लोगों की राय थी कि इतने सुंदर वीडियो को किसी कैप्शन की ज़रूरत है ही नहीं. बात तो सही है एक साथ इतने बड़े झुंड में परिंदे जिस तरह से हवा में फॉरमेशन बना रहे थे उसे देखकर मन वैसे ही इतना आह्लादित हो उठा कि किसी लाइन को लिखने या पढ़ने की ज़रूरत महसूस नहीं हो रही. जिस तरह से झुंड उड़ रहा तो उसे देख लग रहा था मानों वो हवा में कोई करतब दिखा रही हो. कभी-कभी तो लग रहा था मानों सारी चिड़िया एक साथ कोई झूलो झूल रही हैं. जो एक लगातार इधर से उधर झूम रहा है.

ग्राफिक्स नहीं प्रकृति का है कमाल
सबसे हैरानी की बात रही उन सभी का एक साथ एक सिंक में होना. बेजुबान होकर भी गज़ब का कोऑर्डिनेशन बनाए रखना. सबको पता था कि कब किसी दिखा में कितनी दूर तक उड़ना है. कौन सी ऑकृति बनानी है? इस सारी फॉरमेशन का काम इतनी सफाई से चल रहा था मानों किसी कोरियोग्राफर ने बकायदा इन सबको एक साथ ट्रेंड किया हो. यही तो है प्रकृति की खूबसूरती. जो बिना किसी ट्रेनिंग, बिना टीवी, मोबाइल और इंटरनेट के इतने सिंक्रोनाइज्ड तरीक से चल रहा होता है कि यकीन करना मुश्किल हो जाता है. ट्विटर पर शेयर ये वीडियो भी इसी की मिसाल है जिसे देखकर एक बारगी तो ज़रूर ऐसा लगता कि ये सब नेचुरल न होकर ग्राफिक्स का कमाल है.

Tags: Ajab Gajab news, Khabre jara hatke



Leave a Comment