शतरंज की बिसात में छुपा है ऐसा भ्रम जो एक बार में नहीं आता नज़र, आपको खंभों के बीच क्या नज़र आया?


दूर से कुछ और, करीब से कुछ और. जी हां जिसका दूरी के हिसाब से बदल जाता है रुप. करीब से लगता है देखने पर बदल जाते हैं मायने. इसीलिए तो ऐसी तस्वीरों को भ्रमित करने वाली तस्वीर कहते हैं. आंखों को धोखा देने में माहिर ऐसी ही एक तस्वीर है जो लगती तो शतरंज की बिसात है. लेकिन है कुछ और.

ऑप्टिकल भ्रम (Optical illusion) में छिपे हैं कुछ आंकड़ें जिन्हें समझने में कुछ दर्शकों को थोड़ा वक्त लग सकता है. ऐसे पिलर्स जिनके बीच-बीच में छुपा है कुछ ऐसा जो एक नज़र में तो नहीं लेकिन ज़रा करीब से, थोड़ा गौर करके देखने पर आपको कुछ ऐसा मिलेगा जो शायद आपने सोचा भी न हो. खंभो के बीच खड़े हैं लोग. लेकिन क्या आपने उन्हें देख लिया ?

Optical illusion

सौ.सोशल मीडिया- शतरंज की बिसात को करीब से गौर करके देखने पर खाली हिस्सों में दिखने लगेगी इंसानी आकृति

बड़े-बड़े चौसर के बीच छुपा है रहस्य
1989 में डेविड बार्कर द्वारा बनाए गए ये कॉलम जर्मनी के वोल्फ्सबर्ग में फेनो साइंस सेंटर में पाए जा सकते हैं. बार्कर के मुताबिक पहली नज़र में कॉलम ऐसे दिखते हैं जैसे एक विशाल शतरंज की बिसात के टुकड़े हो लेकिन असल में ऐसा नहीं है. गौर से देखने पर खंभों की बीच की जगह और दूरी एक अलग ही आकृति का निर्माण करती नज़र आएगी. जिसे एक बार नज़र में आने के बाद अनदेखा नहीं किया जा सकता.

काले पिलर्स के बीच खड़ी मिली कुछ इंसानी आकृति
कॉलम यानि पिलर्स के ऊपरी हिस्से पर गौर करने से दिखाई देंगे कुछ चेहरे को काले खंभे के बीच की जगह को सफेद रंग से भर रहे हैं. जे देखने में इंसानी चेहरे के आकृति जैसा है. इसी साथ जैसे-जैसे नज़र पिलर्स के निचले हिस्से पर जाने लगेगी तो इंसानी शक्ल के साथ-साथ इंसान के पूरे शरीर की संरचना नज़र आने लगेगी. ये भ्रम से भरी तस्वीर है बेहद सरल और सामान्य है लेकिन इसकी गुत्थी को सुलझाना उतना ही मज़ेदार रहा. तस्वीर पर एक यूज़र ने लिखा- सरल लेकिन बेहद प्रभावी. सबसे मज़ेदार है तस्वीर में छुपे रहस्य और दोनों आकृतियों को ठीक से समझ लेने का बाद फिर बार-बार उसे देखने की कोशिश कर खुद को कन्फ्यूज़ होता पाकर भी बार-बार इसे ट्राय करना. आप भी ट्राय करिए. यकीन मानिए मज़ा आएगा.

Tags: Ajab Gajab news, Khabre jara hatke, OMG

Leave a Comment