दोस्तों की दगाबाज़ी के खिलाफ शख्स ने ली कोर्ट की शरण, फ्रैंड्स ने हड़प लिए लॉटरी के 6 करोड़ रुपए


दोस्ती दुनिया का सबसे भरोसेमंद रिश्ता माना जाता है. एक ऐसा रिश्ता जिसे भगवान नहीं बनाता. इसे अपने लिए हम खुद चुनते हैं. खून का रिश्ता होकर भी दोस्त एक दूसरे के लिए जान देने को तैयार रहते हैं. हर सुख-दुख में हमेशा साथ. मगर दोस्ती में जब दगाबाज़ी आ जाए तो क्या कहेंगे आप?

विंडसर, ओंटारियो कनाडा के फिलिप सोत्सोस को उस वक्त गहरा झटका लगा जब उन्हें पता चला कि उनके दोस्तों ने पैसों के लिए उनके साथ कितना बड़ा धोखा किया. 17 दोस्तों के ग्रुप ने पिछली गर्मी में एक लॉटरी पर दांव खेला था किस्मत ने साथ दिया और ग्रुप ने लॉटरी जीत ली. लेकिन बात जब बंटवारे की आई तो धोखा सामने आ गया जिससे आहत फिलिप ने दोस्तों की चीटिंग के खिलाफ केस कर दिया.

जिसे समझते थे परिवार उन्होंने पैसों के लिए की बेइमानी?
फिलिप सोत्सोस को उनके दोस्तों ने लॉटरी जीतने की सूचना तक नहीं दी थी. उन्हें तो सोशल मीडिया के ज़रिए पता चला की उनके ग्रुप ने ओंटारियो लॉटरी एंड गेमिंग कॉर्पोरेशन (ओएलजी) से लोट्टो मैक्स टिकट पर मैक्समिलियन पुरस्कार जीत लिया. जिसकी रकम 5 करोड़ 76 लाख 15 हज़ार 390 रुपए थी. फिलिप ये देख चौंक गए फिर इस बात पर अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि वे सभी उनके लिए परिवार की तरह हैं. फिर उन्होंने उसे जीत के बारे में क्यों नहीं बताया. ये तो बस शुरुआत थी. बाद में जब फिलिप ने जीत की रकम में अपने हिस्से का दावा किया तो शॉक लगने वाला जवाब मिला. दोस्तों ने बताया की उसका कोई हिस्सा नहीं है. क्योंकि उसने जीत से पहले लॉटरी खेलने के लिए कोई भुगतान नहीं किया था. जिसके बाद उन्होंने दोस्तों के ग्रुप पर 38,36,760 रुपए और ब्याज सहित बाकी खर्चों के लिए केस दर्ज करा दिया.

betrayal of friends

सौ.सोशल मीडिया- शख्स का दावा हर बार बाद ही करना था बकाया राशि का भुगतान, लेकिन इस बार दोस्तों ने चल दी चाल!

दोस्तों के धोखे से टूट गए फिलिप
वहीं ग्रुप के वकील डेविड रॉबिन्स ने भी बिना कंट्रिब्यूशन जीत की रकम में हिस्सेदारी के दावे को गलत बताया. हालांकि सोत्सोस कहते हैं कि उन्होंने टिकटों का पैसा कभी तुरंत नहीं दिया क्योंकि पूल क्रेडिट सिस्टम पर चलता था. जबकि उन्होंने हमेशा अपना कर्ज चुकाया था, पिछले 6 सालों में उन्हें कभी भी ग्रुप से काटा नहीं गया था. उन्होंने ये भी बताया कि जब उन्हें बाकाया राशि के जमा करने की कॉल आई थी तो उन्होंने जीत की रकम में उनके हिस्से से वो पैसे काट लेने की बात कही थी. लेकिन अब जब ग्रुप ने बड़ी रकम जीत ली तो उनका 17वां हिस्सा गायब कर दिया. फिलिप ने केस तो दर्ज करा दिया लेकिन इस बात का अफसोस भी है कि दोस्तों ने अपने सपने पूरे होने के बाद उनके सपनों को क्यों तोड़ा?

Tags: Ajab Gajab news, Khabre jara hatke, Shocking news, Weird news

Leave a Comment