पिज्जा डिलिवरी करने वाली ने बचाई महिला की जान, ऑर्डर लेकर पहुंची तो ज़मीन पर खून से लथपथ पड़ी थी कस्टमर


भगवान कब किस रूप में हमारी मदद के लिए पहुंच जाए कहा नहीं जा सकता. कभी डॉक्टर, कभी पुलिस, कभी दोस्त तो कभी परिवार के रुप में ईश्वर हमारे-आपके बूच मौजूद होते हैं. लेकिन एक महिला के लिए उस वक्त एक पिज्जा डिलिवरी गर्ल भगवान का अवतार बन गई जब वो ज़िंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही थी.

मैसाचुसेट्स की महिला कैरेन हेबर्ट सुलिवन के लिए पिज्जा डिलिवरी गर्ल सोफिया देवदूत से कम नहीं थी. रोज़ की तरह डिनर ऑर्डर कर कैरेन डिलिवरी का इंतज़ार कर रही थी. लेकिन जब डोरडैश ड्राइवर सोफिया फर्टाडो डिलिवरी देने पहुंची तो उसके होश उड़ गए. कस्टमर सुलिवन लहुलुहान हालत में ज़मीन पर पड़ी थी. जिसके बाद सोफिया ने तुरंत इमरजेंसी सर्विसेज़ को कॉल किया. और एंबुलेंस आने तक उसका साथ नहीं छोड़ा. सोफिया की हिम्मत और बहादुरी के लिए उन्हें वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

डिलिवरी ड्राइवर ने बचाई महिला की जान
घटना 11 फरवरी की है जब कैरेन हेबर्ट सुलिवन ने खाना ऑर्डर किया था. जिसके बाद सोफिया फर्टाडो ऑर्डर डिलिवर करने पहुंची थी. जहां सुलिवन लहुलूहान होकर ज़मीन पर पड़ी थी. सुलिवन लगभग मरणासन्न होने लगी थी लेकिन सोफिया ने तुरंत समझदारी से काम लिया और इंमरजेंसी सर्विस के लिए 911 पर कॉल किया. मदद के लिए आवाज़ लगाई तो घर के अंदर सो रहे कैरेन के पति की भी नींद टूटी और वो बाहर आए. वहीं फेयरहेवन पुलिस भी वहां पहुंची तो सोफिया उनकी टीम का हिस्सा बन गई और कैरेन के सपोर्ट में साथ ही रही. दरअसल डोरडैश ड्राइवर सोफिया को एक इमरजेंसी मेडिकल तकनीशियन के रूप में फर्स्ट एड की जानकारी थी लिहाज़ा उसने मदद पहुंचने के पहले ही कैरेल कि स्थिति को समझकर सामान्य करने की कोशिश की थी.

Pizza delivery woman

सौ.सोशल मीडिया- पुलिस ने महिला डिलिवरी ड्राइवर को वीरता पुरस्तार से किया सम्मानित, डोरडैश कंपनी ने भी दी 76 हज़ार की इनाम राशि

वीरता पुरस्कार से सम्मानित हुई डोरडैश ड्राइवर
अधिकारी और मेडिकल टीम वहां पहुंच गई लेकिन सोफिया ने सुलिवन का साथ तब तक नहीं छोड़ा जब तक की वो अस्पताल पहुंच नहीं गई. वहीं सुलिवन ने स्थिति सामान्य होने के बाद बताया कि वो घटना के बाद 3 हफ्ते तक अस्पताल में रहीं और दो गंभीर ब्रेन ब्लीड से पीड़ित थीं. सुलिवन मार्च में थोड़ी ठीक हुई और घर पहुंची. वहीं सोफिया की सूझ-बूझ, हिम्मत और दयाभरे रवैये से प्रभावित होकर फेयरहेवन पुलिस विभाग की ओर ने उन्हें जीवन रक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया गया. सोफिया ने एक महिला की जान बचाई जिसके लिए डोरडैश की तरफ से भी उन्हें 76 हज़ार की राशि इनाम में दी गई. हालांकि सोफिया ने इन सब की उम्मीद नहीं की थी लिहाज़ा वो ऐसे रिस्पॉन्स से भावुक हो गई. वहीं एक खतरनाक और जानलेवा हादसे से गुज़रने के बाद कैरेल और सोफिया अब अच्छी दोस्त बन गई हैं.

Tags: Ajab Gajab news, Khabre jara hatke, Shocking news, Weird news

Leave a Comment