फर्जी कैंसर के नाम पर महिला ने जुटाई 81 लाख की रकम, 7 साल से मांग रही थी डोनेशन !


Woman Faked Cancer for Donation : कोई सपने में भी नहीं चाहता कि कैंसर जैसी बीमारी किसी अपने को कभी भी हो. ये बीमारी जितना मानसिक और शारीरिक रुप से तोड़ती है, इसके इलाज में उतने ही पैसे भी लगते हैं. ऐसे में लोग पब्लिक डोनेशन का भी सहारा लेते हैं. अमेरिका की एक महिला (Amanda Christine Riley) ने भी खुद को कैंसर होने की बात कहकर लोगों से 7 साल तक डोनेशन (Woman Swindle 81 Lakh in Donation) इकट्ठा की. फिर जो सच सामने आया, वो दंग कर देने वाला है.

कैलिफोर्निया की रहने वाली अमांडा क्रिस्टीन रिले (Amanda Christine Riley) का कहना था कि उसे Hodgkin’s lymphoma है. साल 2012 में 37 साल की महिला ने खुद कैंसर के इस खतरनाक रूप के होने का दावा किया था. उसने लोगों ने अपने इलाज में आने वाले खर्च के लिए ऑनलाइन डोनेशन मांगनी भी शुरू कर दी. इस दौरान लोगों ने महिला से खासी संवेदना दिखाते हुए उसकी आर्थिक मदद (Woman Faked Cancer for Donation) के लिए आगे आए.

81 लाख रुपये की डोनेशन इकट्ठा की
कैलिफोर्निया के सैन जोस में रहने वाली अमांडा ने अपनी बीमारी का भरोसा दिलाने के लिए Lymphoma Can Suck It नाम का ब्लॉग भी शुरू किया और अपने बाल मुंडवाकर अपनी फोटो और कैंसर से स्ट्रगल की कहानियां लिखती रही. लोगों ने महिला के संघर्ष में उसकी मदद करने के लिए उसके अकाउंट में पैसे डालने शुरू कर दिए. 7 साल के अंदर उसके अकाउंट में कुल $105,513 यानि भारतीय मुद्रा में करीब 81 लाख 20 हज़ार रुपये से भी ज्यादा की रकम ट्रांसफर कर दी. उसने अपने परिवार से भी कैंसर का झूठ बोल रखा था.

फ्रॉड निकला कैंसर का दावा
महिला की इस स्कीम का पता इंटरनल रेवेन्यू सर्विस ने साल 2019 में लगाया, जिसके बाद महिला पर वायर फ्रॉड का चार्ज लगाया गया. पिछले साल अक्टूबर में उसका अपराध साबित हुआ और उसे 5 साल के जेल की सज़ा सुनाई गई. अदालत की ओर से उसे वो सारी रकम लौटाने का भी आदेश दिया गया है, जो उसने फर्जी कैंसर के नाम पर ऐंठी है. जेल से छूटने के बाद भी 3 साल वो पुलिस की निगरानी में रहेगी. मेल की रिपोर्ट के मुताबिक उसके अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने वाले ज्यादातर लोग उसके परिवारवाले, दोस्त और चर्च से थे. इसके अलावा कुछ फंडरेज़र्स के ज़रिये भी उसे पैसे मिले थे.

Tags: Ajab Gajab, Viral news, Weird news

Leave a Comment